Technology

Digital Kidnapping क्या है और इससे कैसे बचें ?

What is Digital Kidnapping

Hello Dear Friends,

आपके अपने Best E-Learning Blog CSC पर आपका स्वागत है।

दोस्तों हाल ही मे May 12th 2017 को Internet के इतिहास में सबसे बड़ा Cyber Attack दुनिया ने देखा और इसकी चपेटी मे दुनिया के बड़े – बड़े लोग, कम्पनियां और देश आ गये। यह Cyber Attack हुआ एक virus की वजह से, जिसका नाम था  WannaCry Ransomware और जिसने पुरे दुनिया को कुछ ही मिनटों में थरथरा दिया। WannaCry Ransomware Virus के बारे में ज्यादा जानने के लिए आप CSC पर “What is WannaCry Ransomware Virus in Hindi” Post पढ़ सकते है। दोस्तों यह जो भी घटित हुआ इस पूरी प्रक्रिया को  Digital Kidnapping के नाम से जाना जाता है। Digital Kidnapping आपको सुनने में एक नया और अज़ीब word लग सकता है। लेकिन यह है नहीं क्योंकि जिन देशों में इंटरनेट पर निर्भरता ज्यादा है वहां यह बहुत पहले से होता आ रहा है। भारत में लोगों के लिया यह नया था लेकिन जब से Ransomware Virus आया है, लोग Digital Kidnapping के बारे में भी जानने समझने लगे है। भारत में Digital Kidnapping का पहला case जुलाई 2016 में देखने को मिला था।

जब एक तरफ़ Technology हमारे जीवन को आसान बना रही है, वहीं दूसरी तरफ़ हमारे लिए मुश्किलें भी बढ़ा रही है। Digital Kidnapping भी ऐसी ही मुश्किलों में से एक है। इस समस्या को दुगुना कर रही है एक Digital Currency जिसका नाम है Bitcoin. यह Currency अपराधियों के लिए बहुत ही ऐशगाह बनी हुयी है। ये अजूबे जैसे शब्द बहुत जल्द ही हमारी प्रतिदिन बातचीत की प्रमुख चिंताओं में शुमार होने वाले हैं। तो चलिए जानते है क्या होती है Digital Kidnapping और यह किस तरह आपकी लाइफ और सुरक्षा के लिए ख़तरा बन कर उभरी है। आज के हमारे इस Post में –

Digital Kidnapping क्या है ?

Digital Kidnapping का अर्थ है आपकी कंप्यूटर आधारित पहचान और दस्तावेजों की चोरी करना। असल में एक Digital Kidnapping भी Hacking का ही एक नया और सफल तरीका है, जिसमे Hackers मोटा लाभ कमाने के लिए आपकी पहचान, आपकी गोपनीय जानकारी, गोपनीय दस्तावेज या फिर ऐसी गुप्त files जो आपके काम से जुडी है और आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है आदि को चुरा लेते है या उन्हें आपके अपने ही Computer में लॉक कर देते है। फिर इसके बदले में आपसे फिरौती के तौर पर पैसे की मांग की जाती है। इसे हम एक Human Kidnapping की तरह ही समझ सकते है। जहाँ पर किसी इन्सान की जगह Hackers आपके important data या files को चुरा लेते है और उसके बदले में आपसे पैसे की demand करते है।

इसके अलावा कोई Hacker आपकी पहचान को अपने लिए इस्तेमाल कर सकता है। किसी तरह के इंटरनेट Crime में भी आपकी पहचान का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस प्रकार की Crime Activities ही Digital Kidnapping कहलाती है।

क्या हुआ था 19 जुलाई 2016 को ?

अमृतसर में आयुर्वेदिक दवा बनाने वाली एक कम्पनी है श्री धन्वंतरि हर्बल्स। पिछले साल 19 जुलाई 2016 का दिन Shri Dhanvantari Herbals के Employees के लिए सामान्य दिनों की तरह ही एक regular दिन था। वे सुबह रोज़ाना की तरह office पहुंचे और अपना काम शुरू करने के लिए ready थे। लेकिन जब उन्होंने अपने Computers on किये तो वे लोग shocked हुए। उनके Computers Cyber Criminals द्वारा हैक कर लिए गए थे और सभी Employees उनके System से Logged out हो चुके थे। उनके Computers पर Regular Login Prompt के बजाय एक Cryptic Message दिखाई दे रहा था। जो कि किसी Foreign Language में था साथ ही उस Message के निचे एक Email ID भी था।

कम्पनी के IT Engineers को बुलाया गया यह जानने के लिए कि क्या गलत हुआ था। उन्होनें पाया कि कम्पनी का main server हैक और लॉक हो चुका था। उस Experts के अनुसार कम्पनी Digital Kidnapping का शिकार हो चुकी थी। कम्पनी की सारी files और data को strong Encryption से Lock कर दिया गया था। जल्द ही इस कम्पनी के पास एक mail आया जिसमें फिरौती की मांग की गयी थी। cyber criminals चाहते थे कि उनको Payment Bitcoin के द्वारा किया जाये जो कि एक Digital Currency है। इसके बदले में उनसे कुछ Bitcoins की demand की गयी थी और उस समय 1 bitcoin की कीमत लगभग 43000 Indian Rupees थी। आज के समय में Dark Net पर कुछ भी खरीदने व बेचने के लिए Bitcoin सबसे best तरीका है क्योंकि इसमें sender और receiver को trace कर पाना नामुमकिन है। जो Emails उन्हें मिले वो Proxies की बहुत सी Layers और TOR Network के द्वारा भेजे गए थे। जिसकी वजह से उन तक पहुँच पाना लगभग नामुमकिन ही था। अब कम्पनी के पास उन Cyber Criminals को फिरौती देने के अलावा और कोई दूसरा option नहीं था। कंपनी के Executives ने उन Cyber Criminals से Email के द्वारा Contact करके फ़िरौती की रकम में कुछ Negotiate करने की कोशिश भी की पर यह असफल रहा और उन्होनें कंपनी की इस मांग को ठुकरा दिया। इसकी एक FIR कम्पनी की तरफ से पंजाब पुलिस को की गयी लेकिन पुलिस Criminals तक पहुंचना तो दूर उनकी location भी पता नहीं कर पाई।

Must Read : Bitcoin क्या है और इसे कैसे कमाये ?

Must Read : Ransomware Virus क्या है और इससे कैसे बचें ?

Must Read : Internet की दुनिया का काला रहस्य : The Hidden Internet – Deep Web and Dark Web

Must Read : TOR ब्राउज़र क्या है और इसे Hacking के लिए क्यों प्रयोग किया जाता है?

क्या आपको खतरा है Digital Kidnapping से  ?

जी हाँ दोस्तों आपको भी Digital Kidnapping से उतना ही खतरा है जितना की किसी कम्पनी को! दोस्तों अगर आप सोच रहे है कि मेरे Computer में तो ऐसी कोई Important files ही नहीं है जिससे की मुझे ख़तरा हो, तो यह आपकी बहुत बड़ी गलती हो सकती है। अगर आप अपने कंप्यूटर पर का इन्टरनेट सक्रिय इस्तेमाल करते है और अगर आपको भी आदत है Songs, Movies या Software download करने की तो निश्चित रूप से आपके कंप्यूटर के सुरक्षित होने की कोई गारंटी नहीं है। अगर आप किसी भी अनजान sites से या Torrent से Songs, Movies, Software आदि डाउनलोड करते है या फिर आपको Crack Software डाउनलोड कर इस्तेमाल करने की आदत है, तो इनमे से किसी भी Song, Movie, Software के साथ Malware या Ransomware आपके कंप्यूटर में install हो सकता है। जिसकी भनक भी आपको नहीं लगेगी और यह आपके कंप्यूटर से आपकी गोपनीय जानकारी चुराकर अपने मालिक को send करता रहता है।

इनमें भी Torrent Websites सबसे ख़तरनाक है क्योंकि इन पर कोई भी व्यक्ति अपना content upload कर सकता है। ऐसे में हो सकता है किसी Hacker का बनाया गया Program आपने डाउनलोड कर लिया हो। ऐसे में होता यह है कि Hacker आपके कंप्यूटर से आपकी पहचान से जुड़े दस्तावेज़ व गोपनीय फाइल्स आदि चुराने की कोशिश करते है। इसके अलावा वो आपके सभी websites के Login Details भी देख सकते है जिसके जरिये उन्हें Access कर सकते है। अब आपकी Photos और Videos के साथ छेड़-छाड़ करके बहुत कुछ किया जा सकता है। फिर आपको धमकी दी जा सकती है कि वो इसका गलत इस्तेमाल करेंगे अगर उन्होंने इच्छित मांग की गयी रकम नहीं दी तो। इसलिए भी Digital Kidnapping खतरनाक होती है क्योंकि आपकी पहचान का किसी भी तरीके से वो गलत इस्तेमाल कर सकते है और दूसरी समस्या यह भी है कि आप सामने वाले को जानते नहीं है। हो सकता है Hacking किसी दूसरे देश से की गयी हो और अपने अगर एक बार पैसे दे भी दिए तो इसकी कोई गारण्टी नहीं है कि वो आपके data का गलत इस्तेमाल नहीं करेगा।

Digital Kidnapping से कैसे बचें ?

  • अपनी कंप्यूटर के windos को अपडेट रखे।
  • अपने कंप्यूटर के एंटीवायरस को हमेशा update रखें।
  • अपने Windows के Firewall को हमेशा Turned on रखें ताकि वह सही से काम करें।
  • इसलिए इन्टरनेट इस्तेमाल करते समय थोडा सतर्क रहिये केवल भरोसे वाली websites पर ही access करें।
  • किसी भी अनजान, संदिग्ध या Phishing ईमेल को न खोलें ना ही ईमेल के अंदर किसी भी लिंक पर क्लिक करें।
  • किसी भी Torrent या ऐसी वैसी वेबसाइट से कुछ भी download ना करे।
  • Internet Surf करते वक़्त किसी भी प्रकार के लुभावने विज्ञापन / लॉटरी जैसे लिंक पर भूलकर भी क्लिक ना करे।

।।   Thank You   ।।

तो दोस्तों ये Post थी दुनिया की नई Digital Kidnapping और उससे जुड़े खतरों के बारे में हिन्दी में। उम्मीद करता हूँ कि आपको यह Post पसंद आई होगी। दोस्तों अगर आपको यह post पसंद आये तो इसे बाकी दुसरे लोगों और अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे साथ ही मेरे Facebook Page को Like करे। Dear Friends, मेरी जिम्मेदारी बनती है कि मैं आपको कुछ अच्छी और सही जानकारी प्रदान करू और अगर आप यहाँ से कुछ सीख रहे हो तो यह आपकी जिम्मेदारी बनती है कि उस जानकारी को निचे दिए गए links पर Click कर शेयर करे और अपने दोस्तों तक पहुँचाये।

Show More

Chandan Saini

दोस्तों मेरा नाम Chandan Saini है और मैं एक IT Professional और Blogger हूँ। इस website को बनाने का मेरा एकमात्र लक्ष्य यही था कि मैं उन लोगों या students की मदद कर सकू, जो internet पर बहुत कुछ सीखना और पढ़ना चाहते है या जो blog और website मे interest तो रखते है परन्तु English अच्छी ना होने के कारण ज्यादा कुछ नही कर पाते है। आपको इस website पर Technology, Social Media, SEO, Blogging, Domain and Hosting, Success Stories, Self Improvement, Online Business, Biography, Gadgets, Tech Tips, Internet, Computer, Laptops, Mobile आदि सभी प्रकार की जानकारी हिन्दी में मिलेगी।

Related Articles

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *